Bewafa Dard Bhari Shayari

Bewafa Dard Bhari Shayari in Hindi | 1000+ Dard Bhari Bewafa Shayari

Sirf Aapke liye hum lekar aayein hain Best 1000 se bhi jyada Bewafa Dard Bhari Shayari in Hindi, Dard Bhai Bewafa Shayari. 

Share this post with your Friends. Follow us on Facebook, Instagram and Subscribe to our YouTube Channel.

Bewafa Dard Bhari Shayari in Hindi | 1000+ Dard Bhari Bewafa Shayari

Dard Bhari Shayari
Dard Bhari Shayari

बिछड़ के तुमसे ज़िन्दगी सज़ा लगती है,

ये सांस भी जैसे मुझसे ख़फ़ा लगती है,

अगर उम्मीद-ए-वफ़ा करूँ तो किससे करूँ,

मुझको तो मेरी ज़िंदगी भी बेवफा लगती है।


रात की गहराई आँखों में उतर आई,

कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई,

ये जो पलकों से बह रहे हैं हल्के हल्के,

कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई।


Bewafa Dard Bhari Shayari
Bewafa Dard Bhari Shayari

जो जले थे हमारे लिऐ,

बुझ रहे है वो सारे दिये,

कुछ अंधेरों की थी साजिशें,

कुछ उजालों ने धोखे दिये।


Dard Bhari Bewafa Shayari in Hindi

इतनी लम्बी उम्र की दुआ मत माँग मेरे लिये

ऐसा ना हो कि तू भी छोड दे और मौत भी ना आए।


दुनिया बहुत मतलबी है,

साथ कोई क्यों देगा,

मुफ्त का यहाँ कफ़न नहीं मिलता,

तो बिना गम के प्यार कौन देगा।


ख्वाहिश तो ना थी किसी से दिल लगाने की,

मगर जब किस्मत में ही दर्द लिखा था तो मोहब्बत कैसे ना होती।


Dard Bhari Shayari in Hindi
Dard Bhari Shayari in Hindi

ज़िस्म से मेरे तड़पता दिल कोई तो खींच लो​,

मैं बगैर इसके भी जी लूँगा मुझे अब ​ये यकीन ​है।


1000 Bewafa Dard Bhari Shayari

 

आप से दूर हो कर हम जायेंगे कहा,

आप जैसा दोस्त हम पाएंगे कहा,

दिल को कैसे भी संभाल लेंगे,

पर आँखों के आंसू हम छुपायेंगे कहा।

Must Read


Dard Bhari Bewafa Shayari

चाहत वो नहीं जो जान देती है,

चाहत वो नहीं जो मुस्कान देती है,

ऐ दोस्त चाहत तो वो है,

जो पानी में गिरा आंसू पहचान लेती हैं।


Dard Bhari Bewafa Shayari
Dard Bhari Bewafa Shayari

भुला कर हमें क्या वो खुश रह पाएंगे,

साथ में नही तो मेरे जाने के बाद मुस्कुरायेंगे,

दुआ है खुदा से की उन्हें कभी दर्द न देना,

हम तो सह गए पर वो टूट जायेंगे।


Bewafa Dard Bhari Shayari in Hindi

दर्द को छुपाए बैठा रहा,

आंखों की नमी को छुपाए बैठा रहा,

उम्मीद टूटी नहीं है अभी भी,

तेरे लौट आने की खुशी में बैठा रहा।


इश्क़ सभी को जीना सिखा देता है,

वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,

इश्क़ नहीं किया तो करके देखो,

ज़ालिम हर दर्द सहना सीखा देता है।


Bewafa Dard Bhari Shayari
Bewafa Dard Bhari Shayari

परछाई आपकी हमारे दिल में है,

यादे आपकी हमारी आँखों में है,

कैसे भुलाये हम आपको,

प्यार आपका हमारी साँसों में है।


Bewafa Dard Bhari Shayari in Hindi

दर्द से दोस्ती हो गई यारों,

जिंदगी बे दर्द हो गई यारों,

क्या हुआ जो जल गया आशियाना हमारा,

दूर तक रोशनी तो हो गई यारो।


Dard Bhari Bewafa Shayari

बिन बात के ही रूठने की आदत है,

किसी अपने का साथ पाने की चाहत है,

आप खुश रहें, मेरा क्या है, मैं तो आइना हूँ,

मुझे तो टूटने की आदत है।


Dard Bhari Bewafa Shayari

रह न पाओगे भुला कर देख लो,

यकीं न आये तो आजमा कर देख लो,

हर जगह महसूस होगी मेरी कमी,

अपनी महफ़िल को कितना भी सजा कर देख लो।


Hindi Bewafa Dard Bhari Shayari

तेरी आँखों में जब से मैंने अपना अक्स देखा है,

मेरे चेहरे को कोई आइना अच्छा नहीं लगता।


भुला देंगे हम अपना गम सारा,

मिला दे रब जो हमको तुमसे दोबारा।


तुझे भूलकर भी न भूल पायेगें हम,

बस यही एक वादा निभा पायेगें हम,

मिटा देंगे खुद को भी जहाँ से लेकिन,

तेरा नाम दिल से न मिटा पायेगें हम।


Sad Bewafa Dard Bhari Shayari

बीते पल वापस ला नहीं सकते,

सूखे फूल वापस खिला नहीं सकते,

कभी कभी लगता है आप हमें भूल गए,

पर दिल कहता है कि आप हमें भुला नही सकते।


​बेवफाई उसकी मिटा के आया हूँ;

ख़त उसके पानी में बहा के आया हूँ;

कोई पढ़ न ले उस बेवफा की यादों को;

इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ।

Also Read – Jokes


1000 Bewafa Dard Bhari Shayari

 

ये देखा है हमने खुद को आज़माकर;

धोखा देते हैं लोग करीब आकर;

कहती है दुनिया पर दिल नहीं मानता;

कि छोड़ जाओगे तुम भी एक दिन अपना बनाकार।


Dard Bhari Bewafa Shayari

आग दिल में लगी जब वो खफा हुए;​

​महसूस हुआ तब,​ ​जब वो जुदा हुए​;

​​करके वफ़ा कुछ दे न सके वो​

​​पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफा हुए।


Best Bewafa Dard Bhari Shayari

​कहाँ से ​लाऊ हुनर उसे मनाने का​,​

कोई जवाब नहीं था उसके रूठ जाने का​,​

मोहब्बत में सजा मुझे ही मिलनी थी​,​

क्यूंकी जुर्म मैंने किया ​था ​उससे दिल लगाने का​।


⁠⁠⁠⁠⁠

कदम यूँ ही डगमगा गए रास्ते में,

वैसे संभालना हम भी जानते थे,

ठोकर भी लगी तो उसी पत्थर से,

जिसे हम अपना मानते थे।


⁠⁠⁠⁠⁠1000 Bewafa Dard Bhari Shayari

 

किया अपना बन कर जो तूने सनम,

ना गैरों से वो कभी गैर करे,

अगर हमें छोड़ कर जाना चाहते हो,

जाओ चले जाओ अल्लाह खैर करे।


⁠⁠⁠⁠⁠Dard Bhari Bewafa Shayari

एक इंसान मिला जो जीना सिखा गया,

आंसुओं की नमी को पीना सिखा गया,

कभी गुज़रती थी वीरानों में ज़िंदगी,

वो शख्स वीरानों में महफ़िल सजा गया।


⁠⁠⁠⁠⁠

महफ़िल ना सही, तन्हाई तो मिलती है,

मिलें ना सही, जुदाई तो मिलती है,

प्यार में कुछ नहीं मिलता,

वफ़ा ना सही, बेवफ़ाई तो मिलती है।


⁠⁠⁠⁠⁠Top 1000 Bewafa Dard Bhari Shayari

 

​यह ना थी हमारी क़िस्मत, कि विसाल-ए-यार होता,

अगर और जीते रहते, यही इंतज़ार होता,

तेरे वादे पर जाएँ हम, तो यह जान झूठ जाना,

कि ख़ुशी से मर ना जाते, अगर ऐतबार होता।


⁠⁠⁠⁠⁠

जब भी उनकी गली से गुज़रता हूँ,

मेरी आंखें एक दस्तक दे देती हैं,

दुःख ये नहीं कि वो दरवाजा बंद कर देते है,

खुशी ये है कि वो मुझे अब भी पहचान लेते हैं।


Dard Bhari Bewafa Shayari⁠⁠⁠⁠⁠

मेरी मौत के सबब आप बने,

इस दिल के रब आप बने,

पहले मिसाल थे वफ़ा की,

जाने यूँ बेवफ़ा कब आप बने।


एक तेरी खातिर परेशाँ हूँ मैं,

टूटे दिलों की जुबाँ हूँ मैं,

तूने ठुकराया जिसको अपनाकर,

उसी दीवाने का गुमां हूँ मैं।


खुदा तू ही बता हमारा क्या होगा,

उजड़े हुए दिल का सहारा क्या होगा,

घबराहट होती है मोहब्बत की नाव में बैठ कर,

गर मझदार ये तो किनारा क्या होगा।


⁠⁠⁠⁠⁠

तुमको समझाता हूँ इसलिए ए दोस्त,

क्योंकि सबको ही आज़मा चुका हूँ मैं,

कहीं तुमको भी पछताना ना पड़े यहाँ,

कई हसीनों से धोखा खा चुका हूँ मैं।


⁠⁠⁠⁠⁠Dard Bhari Bewafa Shayari

बिखरे हुए दिल ने भी उसके लिए फरियाद मांगी,

मेरी साँसों ने भी हर पल उसकी ख़ुशी मांगी,

जाने क्या मोहब्बत थी उस बेवफ़ा में,

कि मैंने आखिरी फरियाद में भी उनकी वफ़ा मांगी।


⁠⁠⁠⁠⁠

मज़बूरी में जब कोई जुदा होता है,

ज़रूरी नहीं कि वो बेवफ़ा होता है,

देकर वो आपकी आँखों में आँसू,

अकेले में वो आपसे ज्यादा रोता है।


 

कभी हम भी इसके क़रीब थे​,

​​दिलो जान से बढ़ कर अज़ीज थे​,​

​​मगर आज ऐसे मिला है वो​,​

​कभी पहले जैसे मिला ना हो​।


⁠⁠⁠⁠⁠

ज़ख़्म जब मेरे सिने के भर जाएँगे,

आँसू भी मोती बनकर बिखर जाएँगे,

ये मत पूछना किस किस ने धोखा दिया,

वरना कुछ अपनो के चेहरे उतर जाएँगे।


⁠⁠⁠⁠⁠Best Bewafa Dard Bhari Shayari

चेहरों के लिए आईने कुर्बान किये है​,​​

इस शौक में अपने बड़े नुकसान किये है​,​​

महफ़िल में मुझे गालियाँ देकर है बहुत खुश​,​​

जिस शख्स पर मैंने बड़े एहसान किये है।


जीने की तमन्ना बची कहाँ है,

भुलाया जो है हमें आपने,

यह तो बेवफ़ाई की हद ही है,

जिसे पार किया था हमने।


⁠⁠⁠⁠⁠Dard Bhari Bewafa Shayari

 

फ़र्ज़ था जो मेरा निभा दिया मैंने,

उसने माँगा वो सब दे दिया मैंने,

वो सुनके गैरों की बातें बेवफ़ा हो गयी,

समझ के ख्वाब उसको आखिर भुला दिया मैंने।


⁠⁠⁠⁠⁠

ना मिलता गम तो बर्बादी के अफसाने कहाँ जाते,

दुनिया अगर होती चमन तो वीराने कहाँ जाते,

चलो अच्छा हुआ अपनों में कोई ग़ैर तो निकला,

सभी अगर अपने होते तो बेगाने कहाँ जाते।


⁠⁠⁠⁠⁠1000 Bewafa Dard Bhari Shayari

लम्हा लम्हा सांसें ख़तम हो रही हैं,

ज़िंदगी मौत के पहलू में सो रही है,

उस बेवफा से ना पूछो मेरी मौत की वजह,

वो तो ज़माने को दिखाने के लिए रो रही है।


वफ़ा पर हमने घर लुटाना था लेकिन,

वफ़ा लौट गयी लुटाने से पहले,

चिराग तमन्ना का जला तो दिया था,

मगर बुझ गया जगमगाने से पहले।


⁠⁠⁠⁠⁠Dard Bhari Bewafa Shayari

सब कुछ है मेरे पास पर दिल की दवा नहीं,

दूर है वो मुझसे पर मैं उससे ख़फ़ा नहीं,

मालूम है कि वो अब भी प्यार करता है मुझसे,

वो थोड़ा सा ज़िद्दी है मगर बेवफ़ा नहीं।


ना पूछ मेरे सब्र की इंतेहा कहाँ तक है,

कर ले तू सितम, तेरी हसरत जहाँ तक है,

वफ़ा की उम्मीद, जिन्हें होगी उन्हें होगी,

हमें तो देखना है तू बेवफ़ा कहाँ तक है।


⁠⁠⁠⁠⁠

कभी करीब तो कभी जुदा है तू,

जाने किस-किस से खफा है तू,

मुझे तो तुझ पर खुद से ज्यादा यकीं था,

पर ज़माना सच ही कहता था कि बेवफ़ा है तू।


⁠⁠⁠⁠⁠Bewafa Dard Bhari Shayari in Hindi

जानते थे कि नहीं हो सकते कभी तुम हमारे,

फिर भी खुदा से तुम्हें माँगने की आदत हो गयी,

पैमाने वफ़ा क्या है, हमें क्या मालूम,

कि बेवफाओं से दिल लगाने की आदत हो गयी।


⁠⁠⁠⁠⁠

ज़िन्दगी से बस यही गिला है,

ख़ुशी के बाद क्यों ये गम मिला है,

हमने तो उनसे वफ़ा की थी,

पर नहीं जानते थे कि बेवफाई ही वफ़ा का सिला है।


⁠⁠⁠⁠⁠Dard Bhari Bewafa Shayari

जाने मेरी आँखों से कितने आँसू बह गए,

इंसानो की इस भीड़ में देखो हम तनहा रह गए,

करते थे जो कभी अपनी वफ़ा की बातें,

आज वही सनम हमें बेवफ़ा कह गए।


 

आग दिल में लगी जब वो खफा हुए,

महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए,

करके वफ़ा कुछ दे ना सकें वो,

पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफा हुए।


तेरी चौखट से सिर उठाऊं तो बेवफा कहना,

तेरे सिवा किसी और को चाहूँ तो बेवफा कहना,

मेरी वफाओं पे शक है तो खंजर उठा लेना,

शौंक से मर ना जाऊं तो बेवफा कहना।


⁠⁠⁠⁠⁠

महफ़िल में कुछ तो सुनाना पड़ता है,

ग़म छुपा कर मुस्कुराना पड़ता है,

कभी हम भी उनके अज़ीज़ थे,

आज-कल ये भी उन्हें याद दिलाना पड़ता है।


⁠⁠⁠⁠⁠Best Bewafa Dard Bhari Shayari Hindi Mein

कोई भी नहीं यहाँ पर अपना होता,

इस दुनिया ने ये सिखाया है हमको,

उसकी बेवफाई का ना चर्चा करना,

आज दिल ने ये समझाया है हमको


 

ज़िंदगी से बस यही एक गिला है,

ख़ुशी के बाद न जाने क्यों गम मिला है,

हमने तो की थी वफ़ा उनसे जी भर के,

पर नहीं जानते थे कि वफ़ा के बदले बेवफाई ही सिला है।


⁠⁠⁠⁠⁠

कभी करीब तो कभी जुदा था तू,

जाने किस-किस से ख़फ़ा है तू,

मुझे तो तुझ पर खुद से ज्यादा यकीन था,

पर ज़माना सच ही कहता था कि बेवफ़ा है तू।


⁠⁠⁠⁠⁠Dard Bhari Bewafa Shayari

वो निकल गए मेरे रास्ते से इस कदर कि,

जैसे कि वो मुझे पहचानते ही नहीं,

कितने ज़ख्म खाए हैं मेरे इस दिल ने,

फिर भी हम उस बेवफ़ा को बेवफ़ा मानते ही नहीं।


⁠⁠⁠⁠⁠

उनकी मोहब्बत के अभी निशान बाकी है,

नाम लब पर है और जान बाकी है,

क्या हुआ अगर देख कर मुँह फेर लेते हैं,

तसल्ली है कि शक्ल की पहचान बाकी है।


⁠⁠⁠⁠⁠Dard Bhari Bewafa Shayari

एक ख़ुशी की चाह में हर ख़ुशी से दूर हुए हम,

किसी से कुछ कह भी ना सके इतने मज़बूर हुए हम,

ना आई उन्हें निभानी वफ़ा इस दौर-ए-इश्क़ में,

और ज़माने की नज़र में बेवफ़ा के नाम से मशहूर हुए हम।


⁠⁠⁠⁠⁠Sad Bewafa Shayari

एक बार रोये तो रोते चले गए,

दामन अश्कों से भिगोते चले गए,

जब जाम मिला बेवफाई का तो,

खुद को पैमाने में डुबोते चले गए।


⁠⁠⁠⁠⁠

हर पल कुछ सोचते रहने की आदत गयी है,

हर आहट पे च चौंक जाने की आदत हो गयी है,

तेरे इश्क़ में ऐ बेवफा, हिज्र की रातों के संग,

हमको भी जागते रहने की आदत हो गयी है।


⁠⁠⁠⁠⁠

तेरे इश्क़ ने दिया सुकून इतना,

कि तेरे बाद कोई अच्छा न लगे,

तुझे करनी है बेवफाई तो इस अदा से कर,

कि तेरे बाद कोई बेवफ़ा न लगे।


⁠⁠⁠⁠⁠Bewafa Dard Bhari Shayari in Hindi

कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,

कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी,

बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,

आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी।


⁠⁠⁠⁠⁠

जो ज़ख्म दे गए हो आप मुझे,

ना जाने क्यों वो ज़ख्म भरता नहीं,

चाहते तो हम भी हैं कि आपसे अब न मिलें,

मगर ये जो दिल है कमबख्त कुछ समझता ही नहीं।


 

हर धड़कन में एक राज़ होता है,

बात को बताने का भी एक अंदाज़ होता है,

जब तक ना लगे ठोकर बेवाफ़ाई की,

हर किसी को अपने प्यार पर नाज़ होता है।


⁠⁠⁠⁠⁠

हो गया हूँ मशहूर तो ज़ाहिर है दोस्तो,

इलज़ाम सौ तरह के मेरे सर भी आयेंगे,

थोड़ा सा अपनी चाल बदल कर चलो,

सीधे चले तो मुमकिन है पीठ में खंज़र भी आयेंगे।


⁠⁠⁠⁠⁠Bewafa Dard Bhari Shayari in Hindi

ना जाने क्या सोच कर लहरें साहिल से टकराती हैं,

और फिर समंदर में लौट जाती हैं,

समझ नहीं आता कि किनारों से बेवफाई करती हैं,

या फिर लौट कर समंदर से वफ़ा निभाती हैं।


⁠⁠⁠⁠⁠

हर पल कुछ सोचते रहने की आदत हो गयी है,

हर आहट पे चौंक जाने की आदत हो गयी है,

तेरे इश्क़ में ऐ बेवफा, हिज्र की रातों के संग,

हमको भी जागते रहने की आदत हो गयी है।


वो पानी की लहरों पे क्या लिख रहा था,

खुदा जाने हरफ-ऐ-दुआ लिख रहा था,

महोब्बत में मिली थी नफरत उसे भी शायद,

इसलिए हर शख्स को शायद बेवफा लिख रहा था।


⁠⁠⁠⁠⁠Best Bewafa Dard Bhari Shayari

मशहूर हो गया हूँ तो ज़ाहिर है दोस्तो,

इलज़ाम सौ तरह के मेरे सर भी आयेंगे,

थोड़ा सा अपनी चाल बदल कर चलो,

सीधे चले तो मुमकिन है पीठ में खंज़र भी आयेंगे।


वफ़ा करने से मुकर गया है दिल,

अब प्यार करने से डर गया है दिल,

अब किसी सहारे की बात मत करना,

झूठे दिलासों से भर गया है अब यह दिल।


हमें न मोहब्बत मिली न प्यार मिला,

हम को जो भी मिला बेवफा यार मिला!

अपनी तो बन गई तमाशा ज़िन्दगी,

हर कोई अपने मकसद का तलबगार मिला!


मैंने प्यार किया बड़े होश के साथ!

मैंने प्यार किया बड़े जोश के साथ!

पर हम अब प्यार करेंगे बड़ी सोच के साथ!

क्योंकि कल उसे देखा मैंने किसी और के साथ!


कहती है दुनिया जिसे प्यार, नशा है , खताह है!

हमने भी किया है प्यार , इसलिए हमे भी पता है!

मिलती है थोड़ी खुशियाँ ज्यादा गम!

पर इसमें ठोकर खाने का भी कुछ अलग ही मज़ा है!


1000 Bewafa Dard Bhari Shayari

 

उन्होंने जो किया ये शायद उनकी फितरत है!

अपने लिये तो प्यार एक इबादत है!

न मिले उनसे तो मरकर बता देंगे!

कि कितनी मुहब्बत है इस दिल में!


प्यार किया था तो प्यार का अंजाम कहाँ मालूम था!

वफ़ा के बदले मिलेगी बेवफाई कहाँ मालूम था!

सोचा था तैर के पार कर लेंगे प्यार के दरिया को!

पर बीच दरिया मिल जायेगा भंवर कहाँ मालूम था!


अगर दुनिया में जीने की चाहत ना होती,

तो खुदा ने मोहब्बत बनाई ना होती,

लोग मरने की आरज़ू ना करते,

अगर मोहब्बत में बेवाफ़ाई ना होती!


जानकार भी तुम मुझे जान ना पाए,

आजतक तुम मुझे पहचान ना पाए,

खुद ही की है बेवाफाई तुमने,

ताकि तुम पर इल्ज़ाम ना आए!


मत पूछ मेरे सब्र की इन्तेहा कहाँ तक है,

तु सितम कर ले, तेरी ताक़त जहाँ तक है,

व़फा की उम्मीद जिन्हें होगी, उन्हें होगी,

हमें तो देखना है, तू ज़ालिम कहाँ तक है!


पल पल उसका साथ निभाते हम,

एक इशारे पर दुनिया छोड़ जाते हम,

समुन्दर के बीच में पहुंचकर फरेब किया उसने,

वो कहता तो किनारे पर ही डूब जाते हम।


वो छोड़ के गए हमें,

न जाने उनकी क्या मजबूरी थी,

खुदा ने कहा इसमें उनका कोई कसूर नहीं,

ये कहानी तो मैंने लिखी ही अधूरी थी।


प्यार में बेवाफाई मिले तो गम न करना,

अपनी आँखे किसी के लिए नम न करना,

वो चाहे लाख नफरते करें तुमसे,

पर तुम अपना प्यार कभी उसके लिए कम न करना।


दुनियाँ को इसका चेहरा दिखाना पड़ा मुझे,

पर्दा जो दरमियां था हटाना पड़ा मुझे,

रुसवाईयों के खौफ से महफिल में आज,

फिर इस बेवफा से हाथ मिलाना पड़ा मुझे।


Bahut Khwahish Thi, Uske

Sath Zindagi Ka Har Pal,

Har Waqt Bitane Ki,

Lekin Afsoos Ki Kabhi Na

To Wo Pal Aaya Aur Na Hee

Kabhi Wo Waqt.


Dard Bhari Bewafa Shayari in Hindi

Itne Zakhm Khaye Huye Hai,

Ab Ishq Bhi Hota Nahi, Darr

Lagta Hai Iss Zamane Mein,

Kahin Sab Bewafa To Nahi.


Kyu Yaad Aati Hai Teri,

Kyu Palke Bheeg Jaati Hai

Meri, Jaha Jaha Bhi Mere

Ankho Se Ansoo Gire, Tasveer

Ban Jaati Hai Teri..!


Best Shayari

Ek Dard Mujhe Jeene Nahi

Deta, Dil Sabar Kar Jaata Hai

Mujhe Roone Nahi Deta, Mai

Uski Hu Ye Raaz To Jan Gaye.

Par Wo Kiske Hain Ye Sawal

Mujhe Soone Nahi Deta..!


Hamari Bhi Ek Alag Kahaani

Hai, Kuch Patthar To Kuch

Paani Hai, Humne Bhi Pyar

Kiya Tha Bahut, Magar Wo Hamare

Na Ho Sake, Aur Kya Bas Itni

Si Hi Hamari Prem Kahaani Hai..!


Dard Ki Daastan Abhi Baaki

Hai, Mohabbat Ka Imtehaan

Abhi Baaki Hai, Dil Kare To

Fir Wafa Karne Aa Jaana,

Dil Hi To Toota Hai Jaan

Abhi Baaki Hai..!


Toota Ho Dil To Dukh Hota Hai,

Karke Mohabbat Kisi Se Ye Dil

Roota Hai,

Dard Ka Ehsaas Tab Hota Hai,

Jab Kisi Se Mohabbat Ho Aur

Uske Dilme Koi Aur Hota Hai..!


Dard Bhari Bewafa Shayari

Kahta Unki Na Thi Hum Hi

Kuch Galat Samajha Baithe,

Wo Mohabbat Se Baat Karte

Rahe Or Hum. Hum Mohabbat

Samajh Baiathe.


Jisne Haq Diya Mujhe

Muskuraane Ka, Use Shauk Hai

Ab Mujhe Rulaane Ka, Jo

Lehro Se Cheen Kar Laaya Tha

Kinaaro Par, Intezaar Hai

Use Ab Mere Doob Jaane Ka..!


Thokar Khaate Hain Aur Muskuraate

Hain.. Is Dil Ko Sabar Karna

Sikhaate Hain, Hum To Dard Lekar

Bhi Logo Ko Yaad Karte Hain,

Aur Log

Dard Dekar Bhi Bhool Jaate Hain..!


Maine Kaha Maut Ko Thode Din

Tal Ja, Maut Ne Kaha Teri Kisi

Ko Jarurat Nahi Tu Chali Aa,

Maine Kaha Koi Hai Jo Hamare

Liye Jeeta Hai, Maut Ne Kaha

Isliye Tu Roz Paani Ki Jagah

Ansoo Peeta Hai..!


Karna Pada Hai Aaj Khud

Seene Se Dil Ko Alag..

Khuda Maut Dede..

Magar Ye Majburi Na De..!


Mohabbat Ki Pehli Nazar Jab

Uthi Deedar Ke Liye, Ankho Me

Bas Gayi Uski Tasveer Pyar

Ke Liye, Hum To Nihaarte Rahe

Use Pal Pal, Aur Saza De Gayi

Zindgi Bereham Intezaar Ke Liye..!


Aye Dil Kahi Le Chal Tera Bada

Karam Hoga, Na Hum Honge Na

Koi Gam Hoga, Unko Taqleef Hoti

Hai Meri Mohabbat Se Hum Hi Na

Honge To Unka Gam Kuch Kam Hoga..!


Hum To Uski Har Khwaaish

Puri Karne Ka Waada Kar

Bethe, Hume Nahi Pata Tha

Ki.. Hume Bhi Chhoda Uski

Ek Khwaaish Hogi…!


Sad Bewafa Dard Bhari Shayari

Tanhaai To Hai Saathi Apni

Zindgi Ke Har Ek Pal Ki..

Chalo Ye Shikwa Bhi Dur Hua..

Ki, Kisi Ne Saath Na Diya..!


Ab To Ankho Me Simat

Ti Nahi Koi Bhi Surat..

Kaash Maine Use Gaur Se

Na Dekha Hota..!


Bewafa Dard Bhari Shayari in Hindi

Mai Ne Kaha K Mujhay Chhor

Do Ya Tor Do.! Wo Bewafa

Hans K Boli: Itnay Nayaab

Khilonay Roz Kahan Miltay Hain.


Maine Khuda Se Maangi Thi

Uske Liye Khusi.. Aur

Khuda Ne Mujhe Us Se Alaag

Karke Kaha.. Wo Abb Khush Hai.


Kaise Baya Karu Hal E Dil

E Dosto, Zhakham Karne Wale

Malham B Saat Le Gaye, Jinda

Hu Us K Intezar Me, Jo Dube

Hue Hai Kisi Aur K Pyaar Me!!!


Sad Dard Bhari Bewafa Shayari

Badle The Woh, Mausam

Hame Keh Gaye Achhe The Woh,

Bura Hame Keh Gaye, Hamne

Toh Ki Thi Har Pal Wafa Unse,

Nibhai Khud Se Na Gayi Toh,

Bewafa Hame Keh Gaye.


Kash Aisa Koi Tum B Kaam

Kardo Meri Har Hasrat Har

Arzoo Ko Fana Kardo Ya

To Wafaon Ko Tum B Seekh

Lo Ya To Apni Tarah Muje

Bhi Bewafa Kr Do.


Tanhai Me Tuje Na Kabi

Bulaungame Kbi Apni Yaad

Na Dilaunga Me Tuje

Khush Dekhna Chahta Hu Me

Isliye.. Tujhse Bahut

Door Chle Jaunga Me..


Sad Dard Bhari Bewafa Shayari

Ajeeb Kasmkas Ha Tere Deewangi

Ka, Jeene Bhi Nhi Dete Aur

Marne Bhi Nhi Dete Jeena Chhata

Hu To Kehte Ha Aur Kitne

Sitam Sehega Aur Marna Chhata

Ho To Kehte Ha Abhi Ruk

Thode Aur Sitam Baki Ha..


Tere Dur Hone Se Koi Khas

Farak Nahi Pada Mujh Par..

Bas Us Jagah Dard Sa Rhta H..

Jaha Kbhi Dil Hua Karta Tha.

Har Dard Se Bohat Buraa

Hai Dard E Judai…

Aye Dosto

Ek Lamha Jeene Ke Liye

Sau Baar Marna Padta Hai..


Crying Bewafa Dard Bhari Shayari in Hindi

Jis Ko Tum Chaaho Wo Mohabbat,

Jo Tumhein Chaahe Us Ka Kya?

Jis Ke Liye Tum Roye Wo Mohabbat,

Jo Tumare Liye Roye Uska Kya?

Jis Ke Liye Tum Tarpe Wo Mohabbat,

Jo Tumhare Liye Tarpa Uska Kya?

Jis Ko Tumne Chaaha Wo Tum Ko Mile,

Aur Jis Ko Tum Na Mile Uska Kya?


Mere Pyar Ko Wo Samajh

Nahi Paya Rothe The Jab

Tanha To Koi Pass Nahi Aya

Mita Diya Khudko Kisi K

Pyaar Me To Bhi Log Kehte

Hai Mujhe Pyar Krna Nhi Aya..


Dil Se Roye Hotho Se Muskura

Bethe, Yu Hi Ham Kisise Wafa

Nibha Bethe. Wo Hame Ek Lamha

Bhi Na De Paye, Jiske Liye Ham

Apni Sari Zindgi Gawa Bethe.


Jab Dil Tut Ta Hai Toh Aawaz

Nahi Aati, Muhabbat Har Kis

Ko Raas Nahi Aati, Ye To Apni

Apni Baat Hai Yaaro Koi Kisiko

Bhula Nahi Pata,

Aur Kisi Kisi Ko Yaad Nahi Aata.


Rozz Rote Hue Kehti Hai

Ye Mere Zindagi Mujhse,

Sirf Ek Shakhs Ke Khatir

Mujhe Barbaad Na Kar….!


Vo Bewafa To Nahi Thi Par,

Na Jane Q Muh Mor Diya

Usne, Hamne Jaan Se Jyada

Chaha, Use Aur Usne Bevafa

Kaha Hame, Hmari Chahto

Ka Ye Sila Diya Usne.


Uske Chale Jaane Ka Baad

Hum Mohabbat Nhi Karte Kise

Se, Ek Chooti Se Zindgi Hai,

Kis Kis Ko Aazmate Rehenge..!


Aakhir Zindagi Ne Bhi Aaj

Pucch Liya Mujh Se.. Kahan

Hai Wo Shaks Jo Tujhe Mujh

Se Jaydaa Aziz Tha…!


Pattharo Se Pyar Kiya Nadaan

The Hum, Galti Humse Hui

Kyoki Insaan The Hum, Aaj

Jinhe Humse Najre Milaane Me

Taqleef Hoti Hai, Kabhi Usi

Sakhs Ke Jaan The Hum…!


Dil Gumsum, Zubaan Khamosh,

Aankhein Aaj Num Kyon Hai

Jo Kabhi Apna Hua Hi Nahin

Use Aaj Khone Ka Gum Kyon Hai.


Uske Siva Kisi Aur Ko

Chaahna Mere Bas Me

Nahi.. Ye Dil Uska Hai..

Apna Hota To Aur Baat Thi..!


Aakhri Bar Tere Pyar Ko Sajda

Kar Lu.. Laut Kar Fir Teri

Zindgi Me Nahi Aaungi..

Apni Barbaad Mohabbat Ka

Janaza Lekar.. Teri Dunia Se

Bahut Door Chali Jaungi..!


Sad Bewafa Dard Bhari Shayari

Itna Beetab Na Ho Mujhse

Bichadne Ke Liye..

Tujhe Aankon Se Nhi Dil

Se Judaa Karna Hai..


Chhor Diya Aitbar Karna

Kismat Ki Lakeeron

Par, Jo Dil Me Bas Jate

Hai Wo Hathon Ki Lakeeron

Me Nhi Hua Karte…


Ishq Pane Ki Tamanna Me

Kabhi Kabhi, Zindagi Khilona

Ban Jati He, Jis Dil Me

Basna Chahte He, Wo Surat

Sirf Yaad Bankar Reh Jati He.


Tumhara Naam Likhne Ki Izazat

Chin Gayi Jab Se. Koi Bhi Lafz

Likhti Hu To Ankhe Bheeg Jaati

Hai. Teri Berukhi Ne Dil Ke

Itne Tukdre Kiye Hain..

Ki Ab Tanha Bhi Hoti Hu To

Teri Yaad Nahi Aati Hai.!


Jeena Chaaha Magar Ji Na

Sake Tere Bina, Chaak Daaman

Hum Si Na Sake Tere Bina,

Tune Mujhe Bhulkar Nayi

Dunia Basa Li, Hum To

Muskuraa Bhi Na Sake Tere Bina..!


TOp 1000 Bewafa Dard Bhari Shayari

Jin Shiddato Se Koshish Kar

Rahi Hu, Ab Mai Tumhe Bhulaane

Ki, Kabi Bahut Dil Se Dua

Maanga Karti Thi..

Tumhe Apna Banaane Ki..!


Read –  Rone Wali Shayari in Hindi

Teri Yaado Me Zara Ankhe

Bhigo Lu, Udaas Raat Ki

Tanhaai Me So Lu, Akele

Gam Ka Bojh Ab Sambhalta

Nahi, Agar Tu Mil Jaaye

To Tujhse Lipat Kar Ro Lu..!


Aag Dil Me Lagi Jab Wo Khafa

Hue, Mehsoos Tab Hua Jab Wo

Juda Hue, Karke Wafa Kuch De

Na Sake Wo.. Par, Bahut Kuch

De Gaye Jab Wo Bewafa Hue..!


Ye Mat Soch Ke Tu Chhod

Dega To Hum Mar Jayenge..

Wo Bhi Ji Rahe Hain..

Jinko Teri Khaatir Humne

Chhoda Tha..!


Sacche Logo Ki Talaash

Ab Chhod Di Hai Humne..

Qki.. Log To Bas Waqt

Bitaane Aur Dil Jalaane

Ke Liye Milte Hain..!


Apni Zindgi Ko Tho Hum Jee

Chuke, Ab Aap Ki Khaatir

Jee Jaayenge Hum, Gam

Dekar Hi Agar Khush Hain

Aap Humein, Ye Zehar Bhi

Ab Pee Jaayenge Hum..


Jis Ki Arzoo Thi Usi Ka Hi

Pyar Na Mila, Barso Jis Ka

Intazar Kiya Usi Ka Saath

Na Mila, Ajeeb Khel Hai Ye

Mohabbat Ka,k Isi Ko Ham Na

Mile Or Koi Hame Naa Mila..


Khuda Ek Pal K Liye Use

Mera Bana De. Kitna Chahta

Hu Use Koi Ye Bata De. Har

Pal Dekhu Sapne Usi K, Na

Jaagu Mujhe Aisi Neend Sula De


Dard Bhari Bewafa Shayari

Bheeg Jaane Do Baarishon

Ki Boondon Me Hume.. Qki..

Ishq Ki Aag Me Hum Bahut

Jal Chuke Hain..!


Uski Chaahat Me Maine Kya

Kya Nahi Khoya.. Dosto,

Sirf Zindgi Ek Baaki Hai,

Wo Bhi Kisi Din Khoo Dungi..!


Dur Itne Chale Gaye Ki,

Ab Tumhe Mehsoos Bhi Nahi

Kar Sakte Hum.. Ab Laut

Kar Wapas Aaja Sanam Tumhe

Behte Hue In Ashko Ki Kasam..!


Tujhe Baahon Me Bhar Kar..

Bepanah Mai Pyar Karu..

Aye Sanam,

Ye Arzoo Thi Meri..

Bas Arzoo Bankar Reh Gayi..!


Bewafa Dard Bhari Shayari Hindi Mein

Hamesha Aisa Kyu Hota H,

Jise Pyar Karo Use Ehsaas

Nahi Hota H, Dur Karna Chaho

Use Nazrose, Fir Bhi Uski

Yaado Me Dil Kyu Rota H..!


Mere Pyar Ka Tujhe Ehsaas

Nahi Hai.. Mera Pyar Tere

Liye Khaas Nahi Hai.. Hum

Sapno Me Hi Tujhe Paa Lete

Hain.. Zindgi Me Paa Le

Aisi Koi Aas Nahi Hai..!


Hath Pakadh Kar Rook Lete

Tujhe, Agar Tujh Par Humara

Joor Hota, Na Rote Hum Bhi

Tere Liye, Agar Humari Zindagi

Mein Tere Siva Koyi Or Hota..


Roz Hum Naashe Mein Hote Hain,

Aur Raat Guzar Jaati Hai,

Ek Din Raat Nashe Mein Hogi,

Aur Hum Guzar Jaayenge,

Tere Bina Jab Hum Mar Jayenge

Shayad, Tabhi Tumhe Yaad Aayenge..


Pyar Kbhi Bhulana Chaha

To Kabhi Manana Chaha,

Maine Bus Use Apna Banana

Chaha Jane Kya Baat Thi

Mere Aansuon Me Jo Usne

Muje Sirf Rulana Chaha…


Sare Shikwe Jnaab

Tere Hain, Tum Yaad

Aao Toh Neend Nahi Aati,

Neend Aaye To Sare

Khawab Tere Hain..!


Mai Kya Batau Wo Kitna

Badal Gaya, Jo Roshni

Tha Andhere Me Dhal Gaya.

Hum Ek Sath Hi Guzre

Thay Aag Se, Mai Jal Gaya

Wo Bach Ke Nikal Gaya.


Dard Bhari Bewafa Shayari

Pyar Jab Milta Nahi To

Hota Q Hai, Agar Khwabo

Me Wo Aaye To Insan Sota

Q Hai, Jab Yahi Pyar Aankho

K Samne Kisi Or Ka Ho Jaye,

To Dil Itna Rota Q Hai.


Kabhi Use Bhulana Chaha, Kabhi

Use Manana Chaha, Maine Jab

Bhi Chaha Sirf Use Chaha,

Na Jane Kya Bat Thi Mere

Aasuo Mein.. Jo Usne Muje

Sirf Aur Sirf Rulana Chaha!


Judai Aapki Rulati

Rahegi, Yaad Aapki Aati

Rahegi, Jab Tak Jism

Me Hai Jan, Meri Har

Saans Pyar Nibhati Rahegi.


Kab Hui Pyar Ki Barsat

Yaad Nai, Khauf Me Dubi

Mulaqat Yaad Nai, Hum To

Madhosh The Kuch Itna

Uski Chahat Me Usne Kab

Chod Diya Mera Sath Yaad Nai.


Pehli Bar Chahe Kisiko Pa

Na Sake, Kabhi B Rulaya Na

Unko Par Hasa B Na Sake,

Bhaut Pyar Karte He Hum

Unse Par Chah Kar

B Unhe Apna Bana Na Sake.


Bahut Khubsurat Hai Aankhe

Tumhari. Kaise Bhula Du

Mohabbat Tumhari. Tum Sath

Nahi To Kya Hua. Har Par

Sath Hai Yade Tumhari.


Kisi Ka Hone Ke Baad Kyu

Tadap Milti Hai.. Koi

Bataaye Ye Bechaani Kaha

Se Aati Hai.. Kaha Se Aate

Hain Itne Sare Dukh Aur Gam..

Aur, Kyu Har Kisi Me Surat

Usi Ki Nazar Aati Hai..!


Dard Bhari Bewafa Shayari

Dard Ki Dastaan Abhi Baki

Hai. Mohabbat Ka Imtehan

Abhi Baaki He. Dard

Kare To Fir Wafa Karne

Aa Jana. Dil Hi To Tuta

Hai Jan Abhi Baki Hai.


Bas Itna Sa Vaada Kar

Lo Humse Ki Apni Yaado

Ko Na Humse Chinooge,

Humare Baad Kisi Ko Bana

Kar Apna, Uske Sang Sada

Khush Ho K Jee Loge..!


Zindagi Me Kabhi Use Chain

Na Ayeyga Tanhai Ka Andhera

Use Harpal Satayega, Jab

Kabhi Usse Karega Koi Bewafai

Tab Use Mera Pyar Yad Aayega…!


Kab Tak Pyar K Ek Pal Ka

Intzar Krna Hoga, Kab Tak

Iss Intzar Ki Aag Me Yunhi

Jalna Hoga, Mere Dil Se

Ab Sabar Aur Na Hoga, Akhir

Kab Tak Tumhare Sath Ek

Pal Jeene K Liye, Muje

Yunhi Pal Pal Marna Hoga…!


Chaaha Tha Kisi Ko Maine Zndgi

Se Jayada.. Paa Lungi Use Ek

Din Ye Kiya Tha Iraada.. Dhoonda

Use Har Jagah Par Uska Pata Na

Laga.. Par, Jab Mila Wo Mujhe

To Kismat Ne Thaga..!


Suni Si Zndgi Me Aane Ka

Shukriya.. Bahaaro Ka Gulista

Sajaane Ka Shukriya.. Hum To

Apno Me Bhi Begaane Thay..

Aap Anjaan Hokar Bhi Hume

Apna Banaane Ka Shukriya..

Fir Mujhe Tanha Chhod Ke Jaane

Ka Bhi Shukriya..!


Usy Mohabat Kahan Thi

Bas Dil Lagi Thi Ay Dil

E nadaan Warna Mera Pal

Bhar Ka Bicharna Bhi Us

K Liya Azzab Hota.


Aapne Hamari Best 1000 se bhi jyada Bewafa Dard Bhari Shayari in Hindi, Dard Bhari Bewafa Shayari Post ko pdha hai. Please hamein Feedback de. Comment Karein or Follow karein.

Share this post with your Friends. Follow us on Facebook, Instagram and Subscribe to our YouTube Channel.

2 thoughts on “Bewafa Dard Bhari Shayari in Hindi | 1000+ Dard Bhari Bewafa Shayari”

  1. Pingback: Baat Nahi Karne ki Shayari | Best 101 बात नहीं करने की शायरी

  2. Pingback: Comedy Jokes in Hindi | 1000 Jokes in Hindi | हिंदी में चुटकुले

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Pin It on Pinterest

Share This

Share Jokes

Share this post with your friends and Make them Laugh!